• विद्या भारती त्रिपुरा प्रांत का सप्त दिवसीय आचार्य प्रशिक्षण वर्ग गांधीग्राम (अगरतला) मे सम्पन्न
  • 97 प्रतिभागियो ने 10 प्रशिक्षको से प्रशिक्षण प्राप्त किया।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुसार आचार्यों की शैक्षणिक विकास हेतु यह प्रशिक्षण वर्ग का आयोजन किया गया। प्रांत के सभी विद्यालयों से आचार्यों के भाग लिया। आर्ट इंटीग्रेटेड लर्निंग, जेंडर इंक्लूजन, हेल्थ एंड वेलबिंग, इत्यादि विषयों पर प्रशिक्षण हुआ। विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान के उपाध्यक्ष डा. शंकर राय त्रिपुरेश्वरी विद्या मंदिर, गांधीग्राम में चल रहे इस सात दिवसीय आवासीय विद्या भारती प्रांतीय प्रशिक्षण वर्ग की उद्घाटन सत्र में मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया। इस अवसर पर उन्होंने राष्ट्रीय शिक्षा नीति की प्रभावी क्रियान्वित क्यों और कैसे विषय पर उपस्थित कार्यकर्ताओं को संबोधित किया ।

विद्या भारती त्रिपुरा प्रांत का सात दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग 11 मई 2022 से 17 मई 2022 तक त्रिपुरेश्वरी विद्या मंदिर गांधीग्राम (अगरतला) मे प्रारंभ हुआ।

विद्या भारती शिक्षा समिति, त्रिपुरा प्रांत के संयोजक श्री नीलमणि चक्रवर्ती के संयोजन में इस वर्ग का आयोजन हुआ। वे अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि पंचकोषात्मक विकास से विद्यार्थी की सर्वांगीण उन्नति संभव है। योग से हम शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ रहकर समाज और राष्ट्र का कार्य सक्रियता व कुशलता से कर सकते हैं।

प्रोफेसर नित्यानंद प्रधान, नॉर्थ ईस्ट रीजनल इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन, शिलांग के मार्गदर्शन में विशेष सत्र का आयोजन हुआ जिसमें आचार्यों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। भारतीय शिक्षा की आधारशिला आध्यात्मिक है। विद्यार्थी आध्यात्मिक साधना से अनेक शक्तियों को प्राप्त कर सकता है।

इस वर्ग में विद्या भारती त्रिपुरा प्रांत के सचिव सुभाष गण चौधरी, आचार्य प्रशिक्षण प्रमुख श्रीमती तपा शर्मा उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © 2021 Vidya Bharati Shiksha Samiti Tripura - Developed By Vikash Sharma